यूपी बीसी सखी लाभार्थी अपडेट: इन महिलाओं को अब हर महीने मिलेंगे 4-4 हजार, देखें पात्रता नियम

UP BC सखी लाभार्थी अपडेट: उत्तर प्रदेश में नए साल पर सरकार देश की महिलाओं को एक खास तोहफा देने की तैयारी कर रही है. आपको बता दें कि यूपी बीसी सखी योजना के तहत सरकार ने महिलाओं के खातों में पैसे भेजे हैं. जो महिलाएं इस योजना में पंजीकृत हैं, उनका पहला वेतन उनके खाते में भेज दिया गया है।

यूपी बीसी सखी लाभार्थी अपडेट

उत्तर प्रदेश सरकार ने करीब 20,000 बिजनेस कॉरेस्पोंडेंट सखी योजना के खाते में 4000 रुपये ट्रांसफर किए हैं. इतना ही नहीं यूपी बीसी सखी योजना से जुड़ी महिलाओं को वेतन के साथ काम करने पर कमीशन भी दिया जा रहा है. इस यूपी बीसी सखी योजना में सिर्फ महिलाएं ही आवेदन कर सकती हैं!

महिलाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से सरकार यूपी बीसी सखी योजना चला रही है। इसमें महिलाएं बैंक एजेंट बनकर कमाई कर सकती हैं। इसके लिए उन्हें बैंक से अतिरिक्त कमीशन भी मिलेगा। उत्तर प्रदेश की इस योजना से जुड़ने के लिए आवेदक को फॉर्म भरना होगा। इसका लाभ चयनित महिलाओं को मिलेगा।

यह भी जानिए:– Online Business Ideas: बिना निवेश किए कमाएं अच्छा पैसा, शुरू करें ये ऑनलाइन बिजनेस
उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के लिए पात्रता

  • इस यूपी बीसी सखी योजना का लाभ लेने के लिए महिलाओं का कम से कम 10वीं पास होना अनिवार्य है।
  • उन्हें बैंकिंग कार्य और ऑनलाइन कार्य का ज्ञान होना चाहिए।
  • इस योजना में उत्तर प्रदेश की महिलाएं भाग ले सकती हैं।
  • इस सरकारी योजना से 58000 महिलाओं को रोजगार मिलेगा।
  • इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधाओं तक पहुंच बनाना है।
  • आवश्यक दस्तावेज: यूपी बीसी सखी लाभार्थी अपडेट
  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • 10वीं पास की मार्कशीट,

योजना प्रमाण पत्र

इसके अलावा आवेदक के पास पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है।
यूपी बीसी सखी योजना के तहत महिलाओं को घर-घर जाकर सखी बनकर बैंकिंग सुविधाओं के बारे में बताना होगा। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को नई तकनीक और उसके फायदों के बारे में बताना होगा। शुरुआती चरण में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से हर महीने 4 हजार रुपये मिलेंगे. बाद में उन्हें अलग से कमीशन भी मिलेगा। ताकि वह ज्यादा कमाई कर सके।

यूपी बीसी सखी योजना के लाभ

यूपी बीसी सखी योजना 22 मई 2020 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू की गई थी। इसमें उत्तर प्रदेश राज्य की महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए जाते हैं।

महिलाएं घर-घर जाकर लोगों को डिजिटल संसाधनों के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं प्रदान करेंगी और पैसे के लेन-देन को आसान बनाएंगी। इसके बदले में उन्हें 6 महीने तक हर महीने 4,000 रुपये की राशि दी जाएगी। बैंक की ओर से उन्हें ग्रुप फ्रेंड के तौर पर काम करने के लिए कमीशन और 1200 रुपये प्रतिमाह वजीफा भी दिया जाएगा।

इन सुविधाओं का लाभ उठाएं

यूपी बीसी सखी योजना में चयनित आवेदक को डेस्कटॉप कंप्यूटर, लैपटॉप, पीओएस मशीन, कार्ड रीडर, फिंगर प्रिंट रीडर, एकीकृत उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। बीसी सखी को भी बिना ब्याज का कर्ज दिया जाएगा। इसके अलावा उन्हें उत्तर प्रदेश विभाग की ओर से एक ड्रेस दी जाएगी।

आवेदन कैसे करें : यूपी बीसी सखी लाभार्थी अपडेट

बीसी सखी बनने के लिए महिला का उत्तर प्रदेश की निवासी होना जरूरी है। महिला आवेदक 10वीं पास होनी चाहिए। उनमें महिला बैंकिंग सेवाओं को सीखने और समझने की क्षमता होनी चाहिए। यूपी बीसी सखी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से बीसी सखी ऐप डाउनलोड करें। अब अपना फोन नंबर डालें। इतना करने के बाद ओटीपी आएगा। दर्ज कर रजिस्टर करें।

अब आपको Basic Profile पर क्लिक करना है, उसके बाद आपको पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी है। अगले भाग में, आपको कुछ आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे। इसके अलावा ऐप में आपसे हिंदी व्याकरण, गणित और अंग्रेजी से जुड़े कुछ सवाल पूछे जाएंगे।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना

ये बहुविकल्पीय होंगे। इन पर टिक करने के बाद इसे सेव कर लें। यदि आपका यूपी बीसी सखी योजना आवेदन स्वीकार किया जाता है, तो आपको संदेश, ऐप या फोन के माध्यम से सूचित किया जाएगा। इस तरह उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना में महिलाएं आवेदन कर सकती हैं।

Recents posts….