PM Kisan Yojana 12th Kist : अगर अभी तक नहीं आई है आपकी 12वी क़िस्त , तो जल्दी से करले यह काम

दिवाली से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को किसानों को कई तोहफे दिए. सम्मान निधि की 12वीं किस्त के रूप में देश के किसानों के लिए 16 हजार करोड़ रुपये जारी किए गए. यूपी के 2.59 करोड़ किसानों के बैंक खाते में पीएम सम्मान निधि भेजी गई.

प्रधानमंत्री ने भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान पूसा मेला ग्राउंड में आयोजित एक समारोह में ‘वन नेशन-वन फर्टिलाइजर’ परियोजना के तहत इंडिया यूरिया बैग का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा, देश में 3.30 लाख से अधिक HOT PRO इयर्स ऑफ फर्टिलाइजर्स को चरणबद्ध तरीके से ‘पीएम-किसान समृद्धि केंद्रों’ में बदला जाएगा। ये ऐसे केंद्र होंगे जहां न सिर्फ खाद बल्कि बीज और उपकरण भी उपलब्ध होंगे और मिट्टी की जांच की जा सकेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन केंद्रों में किसानों को हर तरह की जानकारी भी उपलब्ध कराई जाएगी.

यूपी में किसानों के लिए खुले 66 समृद्धि केंद्र

लखनऊ। प्रदेश में उर्वरकों की 66 खुदरा दुकानों को भी प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्र के रूप में उन्नयन की सौगात मिली है। प्रधानमंत्री ने नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में इसकी घोषणा की।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल माध्यम से भाग लिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि प्रदेश में स्थापित होने वाले कम से कम 500 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) प्राकृतिक खेती से जुड़े होने चाहिए. इन 66 प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्रों पर किसानों को सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी आसानी से मिल सकेगी।

PM Kisan Yojana : दलित और पिछड़े वर्ग के किसानों के लिए योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब कृषि के लिए कम ब्याज दर पर मिलेगा कर्ज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को बड़ा तोहफा देते हुए एक बार फिर देश में 600 से अधिक प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्रों की शुरुआत की. कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि किसान समृद्धि केंद्र सिर्फ किसान के लिए खाद की खरीद-बिक्री का केंद्र नहीं है, यह एक ऐसा केंद्र है जो किसान को समग्र रूप से जोड़ता है, उसकी हर जरूरत में मदद करता है. इससे पहले भी केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए कई योजनाएं शुरू कर चुकी है।

PM Kisan Yojana 2022 : यूपी के 1284 किसानों को लगेगा बड़ा झटका, इस काम के पैसे नहीं मिलेंगे, वसूली भी होगी तय

किसान सम्मान सम्मेलन में क्या है खास?

पीएम मोदी ने आज नई दिल्ली में भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान में आयोजित किसान सम्मान सम्मेलन 2022 का उद्घाटन किया और कृषि स्टार्टअप कॉन्क्लेव और प्रदर्शनी का भी जायजा लिया। केंद्र सरकार भी किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें लाभ दिलाने के लिए कई योजनाएं चला रही है। अब सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है. किसान समृद्धि केंद्र से अब किसान वन नेशन वन फर्टिलाइजर प्रोग्राम के तहत भारत ब्रांड की खाद खरीद सकेंगे।

आपको बता दें कि 600 से अधिक प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्रों में किसानों की जरूरतों को पूरा करने के लिए देश में 3.3 लाख से अधिक खुदरा उर्वरक दुकानों को पीएमकेएसके में परिवर्तित किया जाएगा। इस खास मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘ये ऐसे केंद्र होंगे जहां न सिर्फ खाद मिलेगी, बल्कि बीज, उपकरण, मिट्टी परीक्षण, किसान को जो भी जानकारी चाहिए, वह इन केंद्रों पर एक ही जगह पर उपलब्ध होगी. ‘

सरकार का सराहनीय कदम

अब सवाल यह है कि किसान समृद्धि केंद्रों पर किसानों को क्या लाभ मिलेगा? यहां किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी और उन्हें जागरूक भी किया जाएगा। किसानों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए किसान समृद्धि केंद्र कृषि मंडियों के आसपास होंगे ताकि किसान वहां आसानी से पहुंच सकें। इतना ही नहीं, कृषि विज्ञान केंद्र और कृषि विश्वविद्यालय के विशेषज्ञ इन केंद्रों पर किसानों को कृषि उपज बढ़ाने में मदद करने के लिए सलाह और सलाह देंगे। किसानों को उचित सलाह और संबंधित जानकारी देने के लिए यह कार्यक्रम हर महीने या 15 दिनों में एक बार आयोजित किया जाएगा।

Recent Posts…